0
Please log in or register to like posts.

गांव के पास धान और गन्ने के खेत में बाघ देखे जाने से खलबली मच गई। मामले की सूचना सामाजिक वानिकी प्रभाग के अधिकारियों को दी गई जिस पर टीम मौके पर पहुंची और पदचिन्ह ट्रेस किए। लोगों को बाघ के प्रति जागरूक करते हुए सजग रहने को कहा गया है।

जंगल से आबादी क्षेत्र में बाघों का आना कम नहीं हो रहा है। अक्सर ही बाघ आबादी क्षेत्र में पहुंचकर चहल कदमी करने लगते हैं। इससे मानव और वन्यजीव के संघर्ष का खतरा बढ़ जाता है। नगर से तीन किमी. दूर स्थित गांव मोहम्मदपुर के पास पिछले तीन दिनों से एक बाघ गन्ने और धान के खेत में देखा जा रहा है। मवेशी चराने वाले और खेत पर जाने वाले लोगों को यह बाघ अक्सर दिख जाता है। बाघ गन्ने में शरण लिए हुए हैं।

बुधवार को अचानक फिर ग्रामीणों को बाघ दिखाई दिया। इसकी तत्काल सूचना सामाजिक वानिकी प्रभाग पूरनपुर के अधिकारियों को दी गई। वन क्षेत्राधिकारी मोहम्मद अयूब टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने खेत में पगमार्क देखें। स्थानीय ग्रामीणों को जागरूक किया और सामूहिक रूप से ही खेतों में जाने की सलाह दी। वन क्षेत्राधिकारी ने बताया कि बाघ की मॉनिटरिंग के लिए टीम लगाई गई है। लोगों को भी जागरूक किया गया है।

जलेगा बल्ब तो दूर हो जाएगी डायबिटीज की बीमारी, पीलीभीत के इस युवा को फ्रांस से आया ऑफर
अभियान में आठ बाल श्रमिकों को कराया मुक्त

Your email address will not be published. Required fields are marked *